नई दिल्लीः सीबीएसई ने देशभर में गुरुवार को 12वीं बोर्ड की अकाउंटेंसी की परीक्षा से पहले बुधवार शाम को कथित रूप से WhatsApp पर पेपर लीक होने की बात खारिज कर दी है. सीबीएसई ने एक बयान में कहा है कि कोई पेपर लीक नहीं हुआ है. सोशल मीडिया पर इस बारे में अफवाह फैलाई गई है. बोर्ड ने पेपर लीक के आरोप सामने आने के बाद एक उच्च स्तरीय बैठक की थी. उसके बाद ही कहा कि कोई पेपर लीक नहीं हुआ है.

इस बारे में सीबीएसई ने यह बयान जारी किया है.
इस बारे में सीबीएसई ने यह बयान जारी किया है.

इससे पहले दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पेपर लीक होने की पुष्टि की है. उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर आया पेपर सीबीएसई अकाउंटेसी के पेपर सेट-2 से पूरी तरह मिलता जुलता है. ऐसे में कहा जा रहा था कि पेपर लीक होने के बाद सीबीएसई इस परीक्षा को रद्द कर सकती थी.

Received complaints of Class 12 CBSE Accountancy paper being leaked.Asked officers of Directorate of Education to investigate&lodge complaint with CBSE.Swift action must be taken,so tht hard-working students don’t suffer due to negligence of CBSE: M Sisodia,Delhi Dy CM (file pic)

मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर पेपर लीक मामले की पुष्टि की थी. उन्होंने कहा कि इस घटना के पीछे जो भी लोग जिम्मेदार हैं उनके खिलाफ उचित कार्रवाई की जानी जानी चाहिए ताकि कड़ी मेहनत करने वाले छात्रों की मेहनत बर्बाद न हो.

लीक पेपर
कथित लीक पेपर

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिसोदिया ने कहा था कि उन्होंने शिक्षा महानिदेशालय और सचिव को इसकी पूरी जांच करने को कहा था. दिल्ली के रोहिणी इलाके में बुधवार को अकाउंटेंसी का कथित पेपर बांटते हुए पाया गया था. इस घटना के बाद एक उच्च स्तरीय बैठक आयोजित की. सीबीएसई के शीर्ष अधिकारी पेपर लीक होने की घटना के बाद बैठक कर रहे थे.